मेरे अंदर कुछ हलचल बस युँ ही चलती है

मेरे अंदर कुछ हलचल बस युँ ही चलती है
तेरे बिन मेरी जिँदगी बस माचिस सी जलती है
पास मेरे तुम हो तो परवाह नहीँ अब दुनिया की
मेरी साँसे भी शायद तेरे साँसोँ से चलती है

No comments:

Post a Comment